kanhaiyalal mishra prabhakar ji ke nibandh sangrah ke naam likhiye

Kanhaiya Lal Mishra Prabhakar? का chapter Hindi book, Kanhaiya lal mishra prabhakar ka jeevan parichay, कन्हैया लाल मिश्र प्रभाकर का जीवन परिचय?

Kanhaiya lal mishra prabhakar ka sahityik parichay, कन्हैया लाल मिश्र प्रभाकर का साहित्यिक परिचय? प्रभाकर जी की सभी रचनाएं क्या क्या हैं? कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर जी के माता-पिता का क्या नाम था?

कन्हैयालाल मिश्र ‘प्रभाकर जी की भाषा शैली क्या क्या हैं? कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर किस युग के लेखक थे? कन्हैयालाल मिश्र जी का उपनाम क्या था? कन्हैयालाल मिश्र जी की मृत्यु कब हुई थी? कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर का जन्म कहाँ हुआ था?

प्रिय छात्रों स्वागत है आपका आज के इस नए पाठ में आज हम पढ़ने वाले हैं कन्हैया लाल मिश्र प्रभाकर का पूरा चैप्टर अगर आप 12वीं कक्षा के छात्र हैं। तो इसे पूरा पढ़कर जरूर जाएं आइए समय न लेते हुए पढ़ना शुरू करते हैं।

Class 12th Hindi Chapter 2| Kanhaiya lal mishra prabhakar ka jeevan parichay? कन्हैया लाल मिश्र प्रभाकर का जीवन परिचय?

कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर का जन्म 1906 में देवबंद के सहारनपुर गांव में एक साधारण ब्राह्मण के घर पर हुआ था l प्रभाकर जी के पिता का नाम पंडित राम दत्त मिश्र था। इनके पिता कर्मकांडी ब्राह्मण थे,

कन्हैयालाल मिश्र जी की शुरुआत शिक्षा ठीक से नहीं चल सकी क्योंकि इनके घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी, इसी कारण से इन्हें कुछ समय तक खुर्जा की संस्कृत पाठशाला में शिक्षा प्राप्त करनी पड़ी, फिर यहीं पर संस्कृत पाठशाला में राष्ट्रीय नेता आसिफ अली का भाषण सुनकर यह इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने परीक्षा को बीच में ही छोड़ दिया और राष्ट्रीय आंदोलन में कूद पड़े।

उसके बाद उन्होंने अपना शेष जीवन राष्ट्र सेवा के लिए अर्पित कर दिया। प्रभाकर जी ने भारत आजाद होने के बाद स्वयं को पत्रकारिता में लगा दिया और लेखन के अतिरिक्त अपना व्यक्तित्व स्नेहा और संपर्क से इन्होंने हिंदी के अनेक लेखकों को प्रभावित किया, और दुर्भाग्य से 9 मई 1995 में इस महान साहित्यकार का निधन हो गया।

Kanhaiya lal mishra prabhakar short jeevan parichay?

नामकन्हैयालाल ‘ मिश्र ‘ प्रभाकर
पिता का नामपंडित राम दत्त मिश्र। ब्राह्मण
जन्म 1906
जन्म स्थान देवबंद सहारनपुर गांव
प्रारंभिक शिक्षाखुर्जा की पाठशाला संस्कृत
संपादन नया जीवन, और विकास, समाचार पत्र।
लेखन विधा गद्य साहित्य
भाषा शैलीगद्य साहित्य
प्रमुख रचनाएंआकाश के तारे, जिंदगी मुस्कुराई, धरती के फूल, माटी हो गई सोना, भूले बिसरे चेहरे,
साहित्य में स्थानमौलिक प्रतिभा संपन्न गद्दार के साथ-साथ पत्रकारिता और रिपोर्ताज लेखन के क्षेत्र में अग्रणी पंक्ति में विशेष स्थान दिया।
निधन 1995
कन्हैया लाल मिश्र प्रभाकर का साहित्यिक परिचय? Kanhaiya lal mishra prabhakar ka sahityik parichay?

कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर रेखा चित्रकार थे, निबंधकार और साहित्यकार थे। प्रभाकर जी का निबंधकारों संस्मरणकारों में अत्यंत महत्वपूर्ण स्थान प्राप्त हुआ है। इनकी रचनाओं में आत्मपरकथा, चित्रात्मकता को प्रमुखता मिली है, पत्रकारिता के क्षेत्र में प्रभाकर जी को अभूतपूर्व कामयाबी मिली। स्वतंत्रता आंदोलन के दिनों में प्रभाकर जी ने स्वतंत्र सेनानियों के अनेक मार्मिक संस्मरण लिखे।

कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर पाठ के महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर (Class 12 hindi book chapter 2 question answer?

कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर के चैप्टर के महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर प्रश्न उत्तर आपको नीचे दिए गए हैं।

Que – कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर की सभी रचनाएं (Kanhaiya lal mishra prabhakar ki rachna kiya hai?)

कन्हैयालाल मिश्र ‘प्रभाकर जी की प्रमुख रचनाएं। जिंदगी मुस्कुराई, बाजे पायलिया के घुँघरू, जिंदगी मुस्कुराई, महके आँगन – चहके द्वार, आकाश के तारे, माटी हो गई सोना, धरती के फूल, 

Que – कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर के माता-पिता का नाम

भारत के महान पत्रकार कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर का जन्म ब्राम्हण परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम पंडित रमादत्त मिश्र था। और उनकी माता का नाम कही भी इतिहास के पन्नो में नही हैं।

Que – कन्हैयालाल मिश्र ‘प्रभाकर की भाषा शैली| (Kanhaiyalal mishra prabhakar ki bhasha shaili)

कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर एक रेखा चित्रकार हैं और निबंधकार एवं लेखक कार भी हैं

Que – कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर किस युग के लेखक हैं?

कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर जी शुक्लोत्तर युग के लेखक हैं।

Que – कन्हैयालाल मिश्र जी का उपनाम क्या है?

कन्हैयालाल लाल मिश्र प्रभाकर का उपना मिश्र प्रभाकर है।

Que – कन्हैयालाल मिश्र की मृत्यु कब हुई थी?

1995 में निधन हुआ था।

Que – कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर का जन्म कहाँ हुआ?

कन्हैयालाल मिश्र का जन्म देवबंद सहारनपुर गांव में हुआ था,

Que – कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर के पाठ का क्या नाम है

मिश्र प्रभाकर के पाठ का नाम राबर्ट नर्सिंग होम में है।

Que – कन्हैयालाल मिश्र ‘प्रभाकर’ जी ने यह निबंध संग्रह लिखा है) (Kanhaiya lal mishra prabhakar ji ka nibandh sangrah ke naam likhiye 

बाजे पायलिया के घुँघरू, जिंदगी लहलहाई, महके आँगन – चहके द्वार, जिंदगी मुस्कुराई, 

हिंदी में संदर्भ कैसे लिखा जाता है?

हिंदी में संदर्भ लिखना बहुत ही आसान होता है इसमें आपको सिर्फ दो बातों को ध्यान में रखकर संदर्भ लिखना होता है। सबसे पहले जिस पाठ का आप संदर्भ बना रहे हैं उस पाठ का आपको नाम याद होना चाहिए,

और पाठ के लेखक का नाम आपको याद होना चाहिए। अगर आप को पाठ और पाठ के लेखक का नाम याद है तो आप आसानी से संदर्भ लिख सकते हैं आइए कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर के चैप्टर का संदर्भ कैसे लिखे सीखते हैं।

संदर्भ – पाठ के लेखक का नाम कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर है और इस पाठ का नाम राबर्ट नर्सिंग होम में हैं।

प्रिया छात्र अब हम कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर के चैप्टर के बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर पड़ेंगे।

Class 12th hindi chapter 2 question answer

  • बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

Question 1. रॉबर्ट नर्सिंग होम में नामक रिपोतार्ज निम्नलिखित में से किसकी रचना थी?

कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर की

Question 2. धरती के फूल लघु कथा के कथाकार का क्या नाम है?

कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर

Question 3. जिंदगी मुस्कुराई नामक रेखाचित्र का क्या नाम है?

कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर

Question 4. कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर द्वारा रचित लघुकथा में क्या नाम है?

आकाश के तारे

Question 5. दीप जले शंख बजे के रचनाकार का नाम बताइए?

कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर

Question 6. छण बोले कण मुस्कान ललित निबंध के रचयिता का नाम बताइए?

कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर

Question 7. बाजे पायलिया के घुंघरू रचना के निबंधकार का नाम क्या है?

कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर

Question 8 कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर द्वारा रचित एक रचना का नाम बताइए?

माटी हो गई सोना।

Question 9. भूले बिसरे चेहरे रचीयता का नाम क्या है?

कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर

Question 10. किन पत्रों का संपादन कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर के द्वारा किया गया है?

नया जीवन विकास का

इसे भी पढ़ें।

निष्कर्ष

दोस्तों उम्मीद है आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी पसंद आई हों तो इसे शेयर करे।

Contact Us

Privacy Policy

About us

Terms and conditions

Leave a comment