महादेवी वर्मा का जीवन एबं साहित्य परिचय क्या है ?

महादेवी वर्मा का जीवन एबं साहित्य परिचय क्या है ? महादेवी वर्मा का जीवन परिचय साहित्य परिचय अगर आप याद करना चाहते हो और इसके साथ में प्रमुख रचनाएं क्या है!


यह भी जानना चाहते हो और भाषा – शैली साहित्य स्थान यह सब कुछ याद करना चाहते हो तो आज बिल्कुल सही जगह पर आ चुके हो !

इस आर्टिकल में आपको पूरी जानकारी मिलेगी महादेवी वर्मा के बारे में अगर आप इस आर्टिकल को एक बार पढ़ लेते हो तो आपको दूसरी जगह पर पढ़ने की आवश्यकता नहीं होगी ! 

और बहुत ही आसानी से आपको याद भी हो जाएगा महादेवी वर्मा का जीवन परिचय और साहित्य परिचय तो पढ़ना स्टार्ट करते हैं !


महादेवी वर्मा का जीवन परिचय 
महादेवी वर्मा का साहित्य परिचय 
महादेवी वर्मा की प्रमुख रचनाएं 
महादेवी वर्मा का साहित्य स्थान 
महादेवी वर्मा की कृतियां

सबसे पहले हम महादेवी वर्मा का जीवन परिचय पड़ेंगे ! और याद करेंगे अगर आप ध्यान लगाकर पढ़ लेते हो तो आपको इनका जीवन परिचय बहुत ही आसानी से याद हो जाएगा और आपको हमेशा याद रहेगा !

महादेवी वर्मा का जीवन परिचय

महादेवी वर्मा का जन्म 1960 ईस्वी में उत्तर प्रदेश के प्रसिद्ध गांव फर्रुखाबाद में हुआ था ! इनके पिता का नाम श्री गोविंद वर्मा था ! और इनकी माता का नाम हेमरानी देवी था ! 

महादेवी वर्मा जी ने m.a. की परीक्षा को उत्तीर्ण किया था और 80 वर्ष की अवस्था में ही 1987 को महादेवी वर्मा का निधन हो गया !


जीवन परिचय 

नाम – महादेवी वर्मा 
पिता का नाम – गोविंद सहाय वर्मा 
माता का नाम – हेमरानी देवी
जन्म – 1960 
जन्म स्थान – फर्रुखाबाद उत्तर प्रदेश 
शिक्षा – m.a. 
भाषा – शैली 
भाषा 
इनकी संस्कृत निष्ठ और खड़ी बोली है !
शैली 
गीती काव्य 
प्रमुख रचनाएं 
संध्या गीत रशिम निहार दीपशिखा नीरजा यामा यह सब प्रमुख रचनाएं महादेवी वर्मा की हैं !

दोस्तों हमने महादेवी वर्मा के आपको दो जीवन परिचय या पढ़ने के लिए दिए हैं ! 

मैं उम्मीद करता हूं कि आपको इनका जीवन परिचय याद हो गया होगा अगर आपको इनका जीवन परिचय याद  नहीं हुआ है ! तो मैं आपको आसानी से याद करने का तरीका बता देता हूं ! 

महादेवी वर्मा का जीवन परिचय याद करने का तरीका बहुत ही आसान है ! यह तरीके से आप किसी भी व्यक्ति का जीवन परिचय याद कर सकते हो ! 

चाहे जयशंकर प्रसाद का महादेवी वर्मा का वासुदेव शरण अग्रवाल का किसी का भी आप जीवन परिचय याद कर सकते हो ! जीवन परिचय याद करने के लिए आपको उनका नाम याद होना चाहिए ! 

जिसका भी आप जीवन परिचय याद करना चाहते हो और उनके पिता का नाम माता का नाम जन्म कब हुआ था !

यह तो आपको पक्का याद होना चाहिए और जन्म स्थान उनके गांव का नाम याद होना चाहिए ! कि वह किस गांव के रहने वाले थे ! 

उन्होंने कितनी पढ़ाई करी यह आपको याद होना चाहिए ! और आपको निधन याद होना चाहिए ! इतने सारे टॉपिक अगर आप याद कर लेते हो तो आपको जीवन परिचय याद हो जाएगा !

महादेवी वर्मा का साहित्य परिचय

महादेवी वर्मा ने मैट्रिक की शिक्षा उत्तीर्ण करने के बाद काव्य रचना करना प्रारंभ कर दी थी ! इन की प्रमुख रचनाएं सर्वप्रथम चांद नाम के पत्रकारिता में प्रकाशित हुई हैं ! 

इनकी काव्यात्मक प्रतिभा के लिए इन्हें सेकसरिया एवं मंगला प्रसाद पुरस्कारों से सम्मानित किया गया ! 

इसके बाद इन्हें भारत सरकार ने पदम भूषण की उपाधि से सम्मानित किया ! और सन 1983 ईस्वी में इन्हें ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया ! 

और इसी वर्ष इन्हें उत्तर प्रदेश सरकार ने भारत भारती पुरस्कार प्रदान किया महादेवी वर्मा को आधुनिक युग की मीरा के नाम से भी जाना जाता है !

जब आप 12वीं कक्षा का पेपर करने के लिए जाते हो तो आपसे साहित्य परिचय जीवन परिचय और उसके साथ में प्रमुख रचनाएं भी लिखने के लिए कहा जाता है ! तो महादेवी वर्मा की प्रमुख रचनाएं क्या है चलिए पढ़ते हैं !

महादेवी वर्मा प्रमुख रचनाएं

वैसे तो महादेवी वर्मा की प्रमुख रचनाएं बहुत है ! लेकिन आपको तीन से चार याद होना ही चाहिए ! महादेवी वर्मा की सबसे महत्वपूर्ण रचना यामा है ! दीपशिखा निहार नीरजा यह भी सब महादेवी वर्मा की रचनाएं हैं !

महादेवी वर्मा की भाषा शैली क्या है ?

दोस्तों मैं आपको बता दूं महादेवी वर्मा की भाषा – शैली क्या है ! उससे पहले मैं आपको बता दूं शैली और भाषा दोनों अलग-अलग होती है !

इसीलिए हम भाषा और शैली को एक-एक करके पढ़ते हैं ! सबसे पहले हम पढ़ते हैं भाषा महादेवी वर्मा की 

भाषा खड़ी बोली हैं ! और इनकी भाषा संस्कृत भी है ! अब हम पढ़ते हैं !

शैली महादेवी वर्मा की शैली गीतिकाव्य की प्रवाहमयी रही है !

महादेवी वर्मा का साहित्य में स्थान

महादेवी वर्मा छायावादी युग की महान कवि हैं!  इन्हें आधुनिक युग की मीरा भी कहा जाता है ! क्योंकि इन्होंने अनेक रचनाएं की हैं !

महादेवी वर्मा की कृतियां

बहुत सारे छात्र पेपर भी दे देते हैं लेकिन उनको यह मालूम नहीं होता है की कृतियां क्या होती है लेकिन अगर आपको याद नहीं है मालूम नहीं है !

तो मैं आपको बता दूं प्रमुख रचनाओं को ही कृतियां कहां जाता है जो कि आप महादेवी वर्मा की रचनाएं पढ़ चुके हो !


महादेवी वर्मा के पाठ का संदर्भ

लेखक का नाम महादेवी वर्मा और पाठ का नाम गीत

दोस्तों बहुत सारे छात्रों को यह प्रॉब्लम होती है कि वह संदर्भ या नहीं कर पाते हैं लेकिन अगर आप भी याद नहीं कर पाते हो तो मैं आपको बहुत ही आसान तरीका बता देता हूं ! 

आपको संदर्भ को याद करने के लिए कवि का नाम और उसके पाठ का नाम याद होना चाहिए तो आप लिख सकते हो साहित्य परिचय को !

12वीं कक्षा में 10 नंबर में बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाते हैं ! और बहुविकल्पीय प्रश्न सभी पढ़े !

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर महादेवी वर्मा

1. उर्वशी रचना के कवि का नाम क्या है
महादेवी वर्मा

2. महादेवी वर्मा की रचना कौन सी है 
सांध्य गीत

3. महादेवी वर्मा की काव्य संग्रह कौन सी है
रशिम

4. महादेवी वर्मा द्वारा लिखा गया काव्य ग्रंथ कौन सा है ! उसका नाम बताइए 
निहार

5. झरना किसकी रचना है उसका नाम बताइए 
महादेवी वर्मा

6. नीरजा के लेखक का नाम क्या है 
महादेवी वर्मा

दोस्तों जब आप से पेपर में बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर पूछे जाएंगे ! तो आप को पहचानने के लिए चार ऑप्शन दिए जाएंगे मैंने आपको सिर्फ एक एक ऑप्शन दिया है ताकि आप इन को याद कर लो बहुत ही आसानी से ! 

तो दोस्तों में उम्मीद करता हूं आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा इसी प्रकार की और जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारी वेबसाइट को फॉलो करें !

महादेवी वर्मा का जीवन परिचय महादेवी वर्मा का साहित्य परिचय महादेवी वर्मा की प्रमुख रचना महादेवी वर्मा की भाषा – शैली महादेवी वर्मा की भाषा शैली महादेवी वर्मा का साहित्य में स्थान महादेवी वर्मा का निबंध गीत!



Leave a comment